Best Suvichar in Hindi – Suvichar Text Messages Words

Find few cute and Best Suvichar in Hindi – Suvichar Text Messages Words which inspire you.

Famous Suvichar Images Download

सफर का मजा लेना हो तो साथ में सामान कम रखिए
और
जिंदगी का मजा लेना हैं तो दिल में अरमान कम रखिए !!

 

तज़ुर्बा है मेरा…. मिट्टी की पकड़ मजबुत होती है,
संगमरमर पर तो हमने …..पाँव फिसलते देखे हैं…!

 

जिंदगी को इतना सिरियस लेने की जरूरत नही यारों,
यहाँ से जिन्दा बचकर कोई नही जायेगा!
जिनके पास सिर्फ सिक्के थे वो मज़े से भीगते रहे बारिश में ….
जिनके जेब में नोट थे वो छत तलाशते रह गए…

Suvichar in Hindi Images

पैसा इन्सान को ऊपर ले जा सकता है;
लेकिन इन्सान पैसा ऊपर नही ले जा सकता……

 

कमाई छोटी या बड़ी हो सकती है….
पर रोटी की साईज़ लगभग सब घर में एक जैसी ही होती है।
शानदार बात
इन्सान की चाहत है कि उड़ने को पर मिले,
और परिंदे सोचते हैं कि रहने को घर मिले…

 

कर्मो’ से ही पहेचान होती है इंसानो की…
महेंगे ‘कपडे’ तो,’पुतले’ भी पहनते है दुकानों में !!..

Maa Suvichar in Hindi Wallpapers Photos Pictures

एक गरीब आदमी ने भगवान महावीर से पूछा : “मैं इतना गरीब क्यों हूँ?”,
भगवान महावीर ने कहा :”तुम गरीब हो क्योंकि तुमने देना नहीं सीखा.” !
गरीब आदमी ने कहा :
“परन्तु मेरे पास तो देने के लिए कुछ भी नहीं है”।भगवान महावीर ने कहा :
“तुम्हारा चेहरा: एक मुस्कान दे सकता है. तुम्हारा मुँह: किसी की प्रशंसा कर सकता है या दूसरों को सुकून पहुंचाने के लिए दो मीठे बोल बोल सकता है, तुम्हारे हाथ: किसी ज़रूरतमंद की सहायता कर सकते हैं. . .और तुम कहते हो तुम्हारे पास देने के लिए कुछ भी नहीं ? !!आत्म| की गरीबी ही वास्तविक गरीबी है.
पाने का हक उसी को है . .
जो देना जानता है ….!


Don't forget to Share this:

You may also like

2 Comments

  1. Sbhi adhyatmik vakya hmesa sahi hote hai. Inhe kbhi sirf kisi ki kahawt nhi manna chahiye, Blki in sbhi vakyo aur suvicharo ko apni anteraatma se jodna chahiye. Mera visvas hai ye sbhi suvichar hmare zindagi se jude hote hain aur suvicharo se hi zindagi ko wastvik disha milti hai. Dhanywad un suvicharo ko hmari zindagi k anubhvo se jodne k liye…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *